0751-4901333

कच्ची मिट्टी से थे हम हमें खूबसूरत घड़ा बनाया

ज्योति दोहरे (दिनकर) ग्वालियर मप्र       18-07-30

 

कच्ची मिट्टी से थे हम
हमें खूबसूरत घड़ा बनाया
अच्छे - बुरे से थे अनजान
हमें इसका ज्ञान कराया
रोते थे हम, तब माँ जैसे सहलाया।
जरूरत पड़ने पर झूठा क्रोध दिखाया।
सिसकियाँ लेते थे जब बैठकर कोने में
हमारे साथ बच्चा बनकर हमें
गुड्डे - गुड़ियो का खेल खिलाया
लोभ - मोह लालच से दूर
निस्वार्थ ज्ञान का पाठ पढ़ाया
हमेशा हमें सच का मार्ग प्रशस्त कराया
दिल से है सम्मान
झुक के हैं प्रणाम, ऐसे गुरुओं को
जिन्होंने हमें हर बुराई से निकालकर
एक अच्छा इंसान बनाया।
 
(गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएं)
               
ज्योति दोहरे (दिनकर)
ग्वालियर मप्र