0751-4901333

मनोरंजन

RIP डॉ. हाथी, बिहार से निकल ऐसे छा गए पूरी दुनिया पर


पुष्पांजलि टुडे न्यूज़ का मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Posted By : Sunil Rajak    2018-07-09  

मुंबई। कॉमेडी शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा में डॉ. हंसराज हाथी का किरदार निभाने वाले कवि कुमार आजाद का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। अपने शानदार अभिनय और अलग अंदाज से लोगों को हंसाने वाले डॉ. हाथी को चाहने वालों की कमी नहीं है। उन्होंने इस शो में एक ऐसे डॉक्टर का किरदार निभाया था जो कि खाने का बहुत शौकीन है। उनका यही स्टाइल लोगों को गुदगुदाता था। समोसा, कचोरी हो या फिर जेठालाल के घर दया बेन के हाथ का बना फाफड़ा, इसे देखकर उनके मुंह में पानी आ ही जाता था। शो के इस किरदार को कवि कुमार आजाद ने बखूबी निभाया और लोगों के दिलों पर एक छाप छोड़ी।

कवि कुमार आजाद मूलरूप से बिहार के सासाराम स्थित गौरक्षणी के रहने वाले थे। बचपन से ही एक्टिंग का शौक था लेकिन जब वे युवा हुए तो उनका वजन तेजी से बढ़ने लगा, लेकिन बावजूद उन्होंने एक्टिंग के शौक को मरने नहीं दिया। वे खुद मजाकिया अंदाज में अपने इंटरव्यू में कई बार कह चुके थे, मैं शो में डॉक्टर बना हूं लेकिन रिअल लाइफ में हूं एक शानदार मरीज।

एक्टिंग के साथ ही कवि कुमार को कविताएं लिखने का भी शौक था। कवि आजाद ने दिल्ली में अभिनय की ट्रेनिंग ली। इसके बाद वो मुंबई पहुंचे जहां उन्हें संघर्ष करना पड़ा। कवि आजाद जब घर से निकले तो उनकी जेब में फूटी कौड़ी नहीं थी। घर की हालत ठीक नहीं थी। पिताजी को बिजनेस में नुकसान हो गया था। घरवाले एक्टिंग में जाने के खिलाफ थे तो उन्हें कई रात मुंबई की सड़कों पर गुजारनी पड़ी थी।

ऐसे मिला था डॉ. हाथी का रोल

साल 2008 में शो में निर्मल सोनी के डॉ. हाथी का किरदार छोड़ने के बाद कवि आजाद को यह रोल मिल गया। एक्टिंग करियर के अपने संघर्ष के दिनों में एक प्रोडक्शन हाउस से कॉल आया कि आपको हमारे बॉस ने बुलाया है। वे पहुंच गए। जैसे ही केबिन में घुसे उन्होंने देखते ही डॉक्टर हंसराज हाथी के किरदार के लिए सिलेक्ट कर लिया।

कवि कुमार ने साल 2000 में आमिर खान की फिल्म मेला में काम किया था। इसके अलावा उन्होंने फंटूश, ड्यूड्स इन द टेन्थ सेंचुरी जैसी फिल्मों में भी काम किया।

Newsletter

Pushpanjali Today offers You to Subscribe FREE!