0751-4901333

मनोरंजन

मित्रता दिवस पर विशेष:जानिये क्या है मित्रता दिवस और क्यों मनाया जाता है और क्या है इसका इतिहास 


पुष्पांजलि टुडे न्यूज़ का मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Posted By : Sunil Rajak    2018-08-05  

अगस्त का पहला रविवार, यानी दोस्ती का दिन. यही चला आ रहा है कई सालों से. दुनिया भर के ज्यादातर मुल्कों में इस दिन Friendship Day मनाया जाता है. भारत में भी लोग इस दिन को दोस्ती के रूप में मनाते हैं।

क्या आप जानते हैं कि ये दोस्ती का दिन आया कहां से और कब से मनाया जाने लगा ?

ऐसा कहा जाता है कि साल 1935 में अमेरिका में अगस्त के पहले रविवार को अमेरिकी सरकार ने एक निर्दोष व्यक्ति को मार दिया था, जिसकी याद में उसके एक दोस्त ने आत्महत्या कर ली थी. इसके बाद दक्षिणी अमेरिकी लोगों ने इस दिन को International Friendship Day के रूप में मनाने का प्रस्ताव अमेरिकी सरकार के सामने रखा था.

उन निर्दोष दोस्तों की मौत पर पब्लिक ने बहुत गुस्सा दिखाया था, जिसके बाद अमेरिकी सरकार को उनकी बात माननी पड़ी लेकिन 21 साल बाद. साल 1958 में सरकार ने उनके प्रस्ताव को मंजूर किया और पूरी दुनिया में अगस्त के पहले Sunday को International Friendship Day घोषित कर दिया.

दोस्ती के अफसाने और उन पर बहुत सी फिल्में तो साल 1965 से ही बनने लगी थीं. लेकिन यहां फ्रेंडशिप डे साल 2000 के बाद ज्यादा Trend में आया. इसके बाद जब से सोशल साइट्स का ट्रेंड बढ़ा, इसके साथ ही फ्रेंडशिप डे का चलन तेजी से बढ़ गया. दोस्तों का ये खास दिन पूरे देश में खूब धूमधाम से मनाया जाने लगा.

इस दिन का इंतजार दोस्तों को पूरे साल होता है. इस दिन सभी अपने अपने Friends Group के साथ घूमते-फिरते हैं और एक-दूसरे को Friendship Band बांधकर जिंदगी भर की दोस्ती में बांध लेते हैं.सच में ये बहुत खास दिन होता है. 

जानिए 82 साल पहले कैसे हुई थी Friendship Day की शुरुआत

दोस्ती का रिश्ता इस दुनिया में सबसे खास होता है. एक सच्चे दोस्त के बिना ये जीवन अधूरा है. हर साल अगस्त महीने के पहले रविवार को दुनिया भर में फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है. इस दिन दोस्त अपनी दोस्ती का इजहार करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि फ्रेंडशिप डे की शुरुआत कब से हुई ? इसे क्यों मनाते हैं? नहीं, तो चलिए हम आपको बताते हैं

फ्रेंडशिप डे का इतिहास

फ्रेंडशिप डे मनाने का चलन वैसे तो पश्चिमी देशों से शुरु हुआ, लेकिन भारत में भी पिछले कुछ सालों से युवाओं के बीच काफी पॉपुलर हो रहा है.ग्रीटिंग कार्ड, सोशल मीडिया और एसएमएस के जरिए लोग एक दूसरे को इस दिन पर बधाई देते हैं और आजीवन सच्ची मित्रता निभाने का वचन लेते हैं. लेकिन इसे मनाने के पीछे की कहानी दुनिया के सबसे बड़े युद्धों में से एक से जुड़ी है.कहा जाता है  प्रथम विश्व युद्ध के बाद लोगों और देशों के बीच आपसी द्वेष, शत्रुता और नफरत की भावना ने जन्म ले लिया था. इसे समाप्त करने और 1935 अमेरिकी सरकार ने फ्रेंडशिप डे की शुरुआत की थी. उस समय ये तय किया गया कि अगस्त के पहले रविवार को इसे मनाया जाएगा. संभवत: इसके पीछे ये कारण रहा होगा कि इस दिन छुट्टी होती है और इसलिए लोग ये दिन पूरी तरह से अपने दोस्तों के साथ एंजॉय कर सकें. 

कई देशों में अलग है तारीख

दुनिया के कई हिस्सों में फ्रेंडशिप डे मनाने की तारीख भी अलग है.  भारत के साथ कई दक्षिण एशियाई देशों में अगस्त के पहले रविवार को फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है. वहीं कुछ जगहों पर इसे अगस्त के पहले रविवार को नहीं बल्कि दूसरी तारीख को मनाया जाता है. ओहायो के ओर्बलिन में 8 अप्रैल को फ्रेंडशिप डे मनाया जाता है. 

 बता दें कि 1997 में अमेरिकी सरकार ने प्रसिद्ध कार्टून करेक्टर विनी द पू को फ्रेंडशिप डे का ब्रांड एंबेसडर बनाया था. 27 अप्रैल 2011 को संयुक्त राष्ट्र संघ की आम सभा ने 30 जुलाई को आधिकारिक तौर पर इंटरनेशनल फ्रेंडशिप डे  मनाने की घोषणा की थी.

पुष्पांजलि टुडे टीम की तरफ से आप सभी को मित्रता दिवस की बहुत बहुत शुभकामनाये 

Newsletter

Pushpanjali Today offers You to Subscribe FREE!