0751-4901333

प्रयास-देवानन्द राय

      18-10-21

बाधाएं चाहे 

कितनी आये 

निशाना हमेशा 

लक्ष्य पर जाए !

प्रयास ये 

निरंतर बना रहे 

अभ्यास ये 

निरंतर चलता है 

जाने कब ?

परीक्षा की घड़ी आये 

अंतिम क्षण में 

निश्चित लक्ष्य प्रण में  

ये अभ्यास 

ये निरंतरता 

ही लक्ष्य पे पहुंचाएँँ |

 

देवानंद राय

गोरखपुर