0751-4901333

देश

International Yoga Day: पीएम ने उत्तराखंड में किया योग, कोटा में बना विश्व रिकॉर्ड


पुष्पांजलि टुडे न्यूज़ का मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें

Posted By : Ram swaroop rajak    2018-06-21  

नई दिल्ली। आज साल का सबसे लंबा दिन है साथ ही आज पूरी दुनिया में चौथा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बार योग दिवस उत्तराखंड के देहरादून में मनाया। यहां के फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट में पीएम मोदी ने 55 हजार लोगों के साथ योगासन किया। वहीं राजस्थान के कोटा शहर में बाबा रामदेव ने ढाई लाख लोगों के साथ योग कर विश्व रिकॉर्ड बनाया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देवभूमि से दुनियाभर के योग प्रेमियों को योग दिवस की बधाई दी। पीएम ने कहा कि आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में योग इंसान के मन, मस्तिष्क और आत्मा को जोड़ता है और उसे शांति का अनुभव करवाता है।   पीएम ने कहा कि देहरादून से डबलिन तक, शिकागो से शंघाई तक, जकार्ता से जोहांसबर्ग तक योग ही योग है। योग दुनिया को एकजुट करने वाली ताकत बन चुका है। दुनिया ने इसे अपनाया है और इसे हर साल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाते हुए देखा जा सकता है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए योग वास्तव में आज दुनिया में एक जन आंदोलन बन चुका है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड दशकों से योग का केंद्र रहा है। यह भूमि हर किसी को आकर्षित करती है। मां गंगा की इस धरती पर, जहां चारधाम स्थित हैं और स्वामी विवेकानंद को इस धरती ने बार-बार अकर्षित किया, यहां योग करना सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा कि जब तोड़ने वाली ताकतें बढ़ती हैं तो बिखराव आता है। ऐसे में योग शांति की अनुभूति कराता है।समाज में सदभाव बढ़ाता और एक सूत्र में पिरोता है। बिखराव के बीच योग जोड़ने का काम करता है। दुनिया में हर जगह सूर्य का स्वागत योग से हो रहा है। योग से परिवार, समाज,राष्ट्र में शांति का माहौल बनता है। योग व्यक्ति,समाज,राष्ट्र,विश्व और संपूर्ण मानवता को जोडता है।योग से विश्व बंधुत्व और ग्लोबल फ्रेंडशिप को नई ऊर्जा मिली है। पीएम ने कहा कि हिमालय से लेकर रेगिस्तान तक आज योग जीवन को समृद्ध कर रहा है। अपनी महान विरासत पर हम गर्व करें तो दुनिया भी गर्व करेगी। योग का दुनिया के सबसे ज्यादा देशों ने समर्थन किया। योग ऐसा प्रस्ताव था जिसे संयुक्त राष्ट्र में कम समय में मंजूरी मिली। देश में 5000 जगहों पर आयोजन आयुष मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पूरे देश में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए करीब 5000 आयोजन होंगे। इसके अलावा 150 से अधिक देशों में योग दिवस मनाया जाएगा। योग सेहत की गारंटी का पासपोर्ट तीन साल पूर्व शुरू हुए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया और संदेश दिया कि योग सेहत की गारंटी का पासपोर्ट है। यह सिर्फ शरीर को फिट रखने के लिए कसरत मात्र नहीं है। योग दरअसल मैं से हम की यात्रा है। यह संतुलन और शांति देता है। ध्यान केंद्रित करने में मदद करता है और असीम ताकत देता है। मैं पूरी दुनिया के लोगों से अपील करता हूं कि वे योग को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं। 2014 से हुई शुरुआत संयुक्त राष्ट्र महासभा ने दिसंबर 2014 में घोषित किया था कि हर साल 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाएगा। इस दिन का महत्व इसलिए भी है कि 21 जून साल का सबसे लंबा दिन होता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में पूरी दुनिया में योग दिवस मनाने का आह्वान किया था। कोटा में बनेगा विश्व रिकॉर्ड कोटा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर गुरुवार को राजस्थान के कोटा में दो लाख लोग योग कर रहे हैं। योगगुरु बाबा रामदेव इन लोगों को योग करा रहे हैं। बाबा रामदेव के साथ राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया व अाचार्य बालकृष्ण मौजूद हैं। सरकार का दावा है कि यह विश्व रिकॉर्ड होगा और इसे गिनीज बुक में दर्ज किया जाएगा। इसके लिए गिनीज वालों की टीम कोटा पहुंच गई है। गिनीज व‌र्ल्ड रिकॉ‌र्ड्स में योग करने वालों की सही संख्या दर्ज हो सके, इसके लिए यहां आने वाले सभी लोगों को बारकोड दिए गए हैं। बारकोड की स्कैनिंग के बाद ही आयोजन स्थल पर प्रवेश दिया गया। दिल्ली में यहां हो रहा है आयोजन -नई दिल्ली में आठ जगहों पर आयोजन हो रहे हैं। मुख्य कार्यक्रम राजपथ पर हो रहा है। -ब्रह्मकुमारी संस्था लाल किले पर आयोजन कर रही है। इसमें बीएसएफ, सीआरपीएफ, सीआइएसएफ समेत विभिन्न केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल एजेंसियों की महिला कर्मियों समेत 50,000 लोग शामिल हैं। -द्वारका में पतंजलि योग समिति और रोहिणी में आर्ट ऑफ लिविंग का आयोजन किया जा रहा है।

Newsletter

Pushpanjali Today offers You to Subscribe FREE!